हर रत्न अपने आप मे खास होता है क्योंकि हर रत्न की अपनी खूबियाँ होती हैं । लेकिन आज हम बात करेंगे पन्ना रत्न के विषय में। दोस्तों, पन्ना रत्न का कलर हरा होता है और ये गहरे से हल्के हरे रंग में मिलता है। ये बुद्ध ग्रह का रत्न होता है इसलिए आपका ये जानना बेहद जरूरी है कि ये रत्न किसे पहनना चाहिए और किसे नहीं पहनना चाहिए और साथ ही इसे धारण करने वाले को इसे पहनने से किस प्रकार के लाभ या नुकसान हो सकते हैं।

 

किन लोगों के लिए है पन्ना रत्न पहनना सही

पन्ना रत्न अपने आप में ही खूबियों से भरा हुआ होता है तो आइए जानें किन लोगों के लिए ये रत्न पहनना सही होता है ।

  • अगर आपका लग्न कन्या या मिथुन है तो आप पन्ना रत्न धारण कर सकते हैं, लेकिन लग्न में कौनसा ग्रह है या लग्न के सामने सप्तम भाव में कौनसा ग्रह है , इसे देखना भी बेहद ज़रूरी है।
  • अगर आप पन्ना पहनने के इच्छुक हैं तो आप अपनी कुंडली किसी अच्छे पंडित को ज़रूर दिखाएं।जिससे आपके आरोग्य और बल में वृद्धि होगी।
  • अगर आपके घर में परिवार को ले के कोई परेशानी चल रही है और अगर आप मिथुन राशि लग्न के हैं तो आपको पन्ना ज़रूर पहनना चाहिए।
  • कन्या राशि के जातक अगर पन्ना रत्न पहनते हैं व्यापार और नॉकरी करने वालों को बहुत लाभ होता है।
  • यदि किसी की बुध की महादशा या अंतरदशा चल रही है और उसका बुध आठवें या बाववें स्थान में नहीं हो तो पन्ना पहनना लाभदायक सिद्ध होगा।
  • अगर किसी जातक का बुध, मंगल, शनि, राहु या केतु के साथ में स्थित हो या फिर उस पर शत्रु ग्रहों ने दृष्टि रखी हो तो वो जातक पन्ना धारण कर सकता है। इससे उसके नौकरी व्यवसाय में आने वाली बाधाएं दूर होंगी।
  • अगर किसी जातक की कुंडली में बुध मीन राशि का हो और बुरा प्रभाव डाल रहा हो तो भी पन्ना धारण किया जा सकता है।

 

किसे पन्ना रत्न नहीं पहनना चाहिए

हमारा ये जानना भी बेहद ज़रूरी है कि किन लोगों को ये रत्न नहीं पहनना चाहिए।

  • दोस्तों अगर आपका बुध तीसरे या बारवें स्थान में हो तो आपका ये रत्न पहनना नुकसान देह हो सकता है।
  • अगर आपका बुध स्वामी छठे, आठवें या बारवें स्थान में है तो भी आपको ये रत्न नहीं पहनना चाहिए।
  • कभी भी नकली, अशुद्ध, टूटा-फूटा, धब्बेदार, स्वर्ण रंग का या किसी अन्य रंग का पन्ना धारण नहीं करना चाहिए इससे धन, सुख,समृद्धि और संतान पक्ष का नाश होता है।

 

पन्ना धारण करने के नियम

ज्योतिषों का मत है कि पन्ना सदैव चांदी या सोने में ही जड़वाना चाहिए और बुधवार के दिन हाथ की सबसे छोटी उंगली में ही धारण करना चाहिए।इसी के साथ पन्ना रत्न सूर्योदय से लगभग 10 बजे तक ही धारण करना चाहिए। ज्योतिषों के अनुसार अगर ये रत्न सोने में धारण किया जाय तो शुभ माना जाता है। पन्ना हमेशा कम से कम सवा 7 कैरेट का होना चाहिए और याद रखिये कि इसे पहनने से पहले एक रात के लिए गंगाजल, शहद, मिश्री, और दूध के घोल में डुबोकर रख दें ,उसके बाद बुधवार के दिन इसे निकाल कर धूप दीप दिखाएं और "ऊं बुं बुधाय नमः" मंत्र का 108 बार जाप कर धारण कर लें।

 

पन्ना धारण करने के लाभ

पन्ना रत्न आपके जीवन मे बेहद खुशियां भर सकता है , आइए जानते हैं कैसे?

  • ये रत्न धारण करने से स्मरण शक्ति बढ़ती है और बुद्धि का तेजी से विकास होता है।
  • अगर आपका हाजमा अच्‍छा नहीं है तो इसे पहनने से आपको लाभ मिलेगा।
  • इस रत्न को पहनने से नौकरी और व्यापार में सफलता मिलती है।
  • पन्ना धारण करने से वाणी प्रभावशाली होती है और आपके अधूरे सपने पूरे होने लगते हैं।
  • इस रत्न के घर में होने से ही अन्नपूर्णा का वास होता है और संतान सुख मिलता है।
  • अगर मिथुन राशि वाले जातक पन्ना रत्न धारण करे तो पारिवारिक परेशानियाँ कम होती है।
  • कन्या राशि वाले जातक ये रत्न धारण करे तो व्यापार, नौकरी, शासकीय कार्यों में लाभ पहुंचता है।

 

पन्ना धारण करने के नुकसान

कई बार ये रत्न पहनना नुकसानदेह भी हो जाता है , आइए जानते हैं कैसे?

  • जो लोग हमेशा लड़तें है, जुआ खेलते है और ऐसे व्यक्ति अगर पन्ना धारण कर लें तो ये बहुत गलत प्रभाव डालता है।
  • जो लोग नशा करते हैं या जिनको कोई शारीरिक एलर्जी है, और वो अगर पन्ना पहन रहे तो उनको कई प्रकार की हानि का सामना करना पड़ेगा।
  • ऐसे लोग जो हमेशा झूठ बोलते हैं या हमेशा बुरे काम करते हैं वो भी अगर पन्ना धारण कर लें तो उनको भी नुकसान का ही सामना करना पड़ता है।

नोट- आप जब भी पन्ना रत्न धारण करें तो एक अच्छे ज्योतिषी से पूछ कर ही धारण करें।